डीप डाइव : अंडर वॉटर सिटी दुबई

पानी के अंदर बसा एक शहर जिसका रास्ता पेड़ों और फूलों से गुज़रता हो। ऐसे मायावी शहर ने अपने मेहमानों के लिए यहां के दरवाज़े खोल दिए हैं। सीप के आकार वाले इस पूल में लाइट और साउंड के अलावा टेम्प्रेचर तक की सेटिंग आपका दिल जीत लेंगे। आपका ये शौक़ पूरा करने की मेज़बानी कर रहा है दुबई।

टूरिज्म के संसार में दुबई ने एक और अध्याय रच दिया है। दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज ख़लीफ़ा के बाद अब सबसे गहरे और लग्ज़री डीप डाइव का मज़ा लेने के लिए दुबई आना होगा। 196 फीट गहरे इस डीप डाइव में अंडरवाटर सिटी और आर्केड की दुनिया सैलानियों को खुशामदीद कहती है। 

बीते 27 जून को पोलैंड के 147 फीट गहराई वाले डीपस्पॉट को पीछे छोड़ते हुए दुबई ने डीप डाइव में गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया। 60 मीटर गहरे इस पूल की कैपेसिटी ओलंपिक के छह स्विमिंग पूल के बराबर है। पानी की विशेषताओं से भरपूर सीप के आकार वाले इस पूल में पानी का तापमान 30 डिग्री है। यहां मेहमानों को पतले वेटसूट या स्विमसूट पहनने की सलाह दी जाती है।

अंडर वाटर सिटी के परिसर को लेटेस्ट लाइट सिस्टम से जगमगाया गया है। यहां साउंड सिस्टम के साथ फिल्म स्टूडियो और एडिटिंग रूम का भी एहतिमाम है। पानी के नीचे बना ये शहर डॉटेड 56 कैमरों की निगरानी में है। एमरजेंसी के लिए यहां एक हाईटेक हाइपरबेरिक कक्ष का भी इंतिज़ाम है जिसे इस वर्ष के अंत तक लॉन्च करने का इरादा है।

डीप डाइविंग का फैमिली फ्रेंडली माहौल नौसिखियों के लिए एक्सपर्ट ट्रेनर की मदद से डाइविंग कोर्स की सुविधा देता है। जिन्हे पानी में डुबकी लगाने का मन नहीं उनके लिए बड़ी खिड़कियों और टीवी स्क्रीन से सुसज्जित 80 सीटों वाले रेस्तरां का भी इंतिज़ाम है। अभिनेता विल स्मिथ और दुबई के क्राउन प्रिंस शेख हमदान बिन मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम सहित कई हाई प्रोफाइल मेहमानों ने यहां बैठ कर दुनिया के अद्भुत नज़ारों का लुत्फ़ लिया है।

विल स्मिथ ने अपने इस अनुभव को कुछ अलग बताते हुए ‘जुनून’ का नाम दिया है जबकि शेख हमदान ने 7 जुलाई की अपनी यात्रा के बाद सोशल मीडिया पर इसकी तारीफ़ इन शब्दों में की है –  ‘दुनिया के सबसे गहरे पूल डीप डाइव दुबई में एक पूरी दुनिया आपका इंतजार कर रही है’।

‘गोताखोरी के बाद गगनचुंबी इमारत के शीर्ष पर न जाएं’ की चेतावनी के साथ डीप डाइव अपने मेहमानों को यहां की यात्रा के बाद बुर्ज खलीफा का दौरा न करने की सलाह देता है। यहां गोता लगाने के बाद 1000 फीट की चढ़ाई के लिए 18-24 घंटे प्रतीक्षा करना आपके हित में है, हालांकि बुर्ज ख़लीफ़ा का दौरा करने के बाद डाइविंग में कोई खतरा नहीं है।

दुनिया के सबसे गहरे पूल का रिकॉर्ड उत्तरी इटली के शहर मोंटेग्रोटो टर्म में बने पूल Y-40 डीप जॉय के पास था। इसका डिज़ाइन प्रसिद्ध वास्तुकार इमानुएल बोएरेटो द्वारा किया गया था। इस स्विमिंग पूल का रास्ता फोर स्टार होटल टर्मे मिलेपिनी से होकर जाता है। यहां भी पर्यटकों के लिए 32 से 34 डिग्री सेल्सियस के तापमान में डाइविंग और स्कूबा डाइविंग के शौक़ पूरे करने के इंतिज़ाम हैं। जो पर्यटक भीगे बिना इन मंज़र के देखना चाहते हैं, उनके लिए पानी के नीचे एक पारदर्शी सुरंग की सुविधा है। 

5 जून 2014 को Y-40 डीप जॉय के पूरा होने से पहले सबसे गहरे पूल का रिकॉर्ड बेल्जियम के ब्रुसेल्स में निमो – 33 के पास था। गहरे पूल की खासियत के साथ अपनी पहचान बनाने वाले निमो – 33 पूल की माप 113 फीट थी। ये दुबई के डीप डाइव से 65 फीट कम है।

Read Previous

स्पेस टूरिज़्म : सुहानी सैर सपनों के संसार की

Read Next

धुएं, चिंगारी और आंच से जूझती महिलाओं की ज़िंदगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *